अध्ययन का सामग्री

पेशकश करने के लिए प्लेटफॉर्म क्या है?

पेशकश करने के लिए प्लेटफॉर्म क्या है?

घर बैठे आप ऑनलाइन खरीद सकते हैं सोना, ये हैं तरीके

एमएमटीसी-पीएएमपी प्लेटफॉर्म से सोना खरीदने पर कोई स्टोरेज चार्ज नहीं लगता है.

घर बैठे आप ऑनलाइन खरीद सकते हैं सोना, ये हैं तरीके

क्या है पेशकश?
तमाम विकल्पों का विश्लेषण करने से पहले यहां कुछ जरूरी बातों को देख लेते हैं जिन्हें आपको ध्यान में रखना चाहिए.

कौन कर रहा है पेशकश : आप पेटीएम, मोबिक्विक और फोनपे जैसे मोबाइल वॉलेट के माध्यम से और स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया की गोल्ड रश स्कीम के तहत ऑनलाइन सोना खरीद सकते हैं. सोने की खरीद के ये सभी विकल्प या तो एमएमटीसी-पीएएमपी या सेफगोल्ड या दोनों के सहयोग से दिए जाते हैं.

एमएमटीसी-पीएएमपी सरकारी स्वामित्व वाली एमएमटीसी और स्विट्जरलैंड की पीएएमपी एसए के बीच ज्वाइंट वेंचर है. सेफगोल्ड डिजिटल प्लेटफॉर्म है, जो विभिन्न मोबाइल वॉलेट एप्स से जुड़ा हुआ है. यह ग्राहकों को सोना खरीदने और बेचने की सहूलियत देता है.पेशकश करने के लिए प्लेटफॉर्म क्या है?

शुद्धता : एमएमटीसी-पीएएमपी और सेफगोल्ड दोनों 24 कैरेट सोने की पेशकश करते हैं. हालांकि, फाइननेस के मामले में एमएमटीसी-पीएएमपी 99.9 फीसदी शुद्धता के पेशकश करने के लिए प्लेटफॉर्म क्या है? सोने की पेशकश करता है. जबकि सेफगोल्ड 99.5 फीसदी की. कुल वजन में सोने का कितना अनुपात होता है, उसे फाइननेस कहते पेशकश करने के लिए प्लेटफॉर्म क्या है? हैं.

सुरक्षा : इन प्लेफॉर्म से खरीदे जाने वाले सोने को खास तिजोरी में रखा जाता है. ये पूरी तरह से सुरक्षित होती हैं.

कितने समय तक रख सकते हैं सोना : एमएमटीसी-पीएएमपी प्लेटफॉर्म से सोना खरीदने पर कोई स्टोरेज चार्ज नहीं लगता है. कोई भी अधिकतम पांच साल तक सोने को रख सकता है. हालांकि, पांच सालों के बाद आपको इसे सोने के सिक्कों में बदलने या इसे बेचने की आवश्यकता पड़ती है. अपने खाते को निष्क्रिय होने से बचाने के लिए आपको कम से कम हर छह महीने में एक ट्रांजेक्शन करना होगा.

फोनपे या मोबिक्विक का उपयोग करके सेफगोल्ड से सोना खरीदने पर स्टोरेज चार्ज लिए जाते हैं. सेफगोल्ड प्लेटफॉर्म के जरिए फोनपे पर पेशकश करने के लिए प्लेटफॉर्म क्या है? खरीदे पेशकश करने के लिए प्लेटफॉर्म क्या है? गए सोने के लिए यदि पहले दो वर्षों में सोने की मात्रा दो ग्राम से अधिक है, तो कोई शुल्क नहीं है. यदि यह दो ग्राम से कम है, तो प्रति माह 0.05 फीसदी का शुल्क लिया जाता है.

दूसरी ओर मोबिक्विक से खरीदा गया सोना अधिकतम सात वर्षों तक स्टोर किया जा सकता है. इसमें स्टैंडर्ड प्रोसेसिंग चार्ज और जीएसटी लगते हैं. हालांकि, मोबिक्विक ने यह नहीं बताया है कि ये शुल्क कितने हैं.

फोनपे पर सोने के फीचर
1) सोने की खरीद 1 रुपये या 0.001 ग्राम से शुरू होती है. हालांकि, इसे बेचने के लिए आपके पास सोने की न्यूनतम 5 रुपये के मूल्य का सोना होना चाहिए. आप उसी दिन खरीद और बिक्री नहीं कर सकते हैं.
2) ऐप पर दिखार्इ जाने वाली सोने की दर में कस्टम ड्यूटी और टैक्स शामिल होते हैं. फाइननेस में अंतर के कारण एमएमटीसी-पीएएमपी और सेफगोल्ड के सोने की दरों में भी अंतर दिखता है.
3) खरीद और बिक्री की लाइव दर 5 मिनट के लिए मान्य होती है.
4) एक दिन में अधिकतम 49,999 रुपये के सोने की खरीद कर सकते हैं. अधिकतम आप 60 ग्राम सोना जुटा सकते हैं.
5) कोई भी दोनों प्लेटफॉर्म से सोना खरीद सकता है. प्रत्येक लॉकर का रखरखाव अलग-अलग होता है.
6) सोने को सिक्कों में बदलने की शुरुआत 1 ग्राम से होती है. आपको लागू डिलीवरी और मेकिंग चार्ज का भुगतान करना होगा.
7) सोने के सिक्के को टैंपर प्रूफ पैकेजिंग में भेजा जाता है.

पेटीएम के डिजिटल गोल्ड के फीचर
1) सोने को खरीदने का न्यूनतम मूल्य 1 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये है. ग्राम में आप न्यूनतम 0.0005 ग्राम और अधिकतम 50 ग्राम खरीद सकते हैं.
2) सोने की बिक्री 0.0004 ग्राम या 5 रुपये से शुरू होती है. लाइव मूल्य ट्रांजेक्शन पूरा होने के 6 मिनट तक पेशकश करने के लिए प्लेटफॉर्म क्या है? मान्य होते हैं.
3) पांच साल बाद सोने को रखने पर अतिरिक्त शुल्क लगाया जाएगा. हालांकि, पेटीएम ने यह नहीं बताया कि यह शुल्क कितना है.
4) बिक्री के समय आपको अपना बैंक खाता और आईएफएससी कोड विवरण देना होगा. 72 घंटे के भीतर पैसा आपके खाते में जमा हो जाएगा.
5) एफएक्यू सेक्शन के मुताबिक, बिक्री मूल्य खरीद मूल्य से कम होंगे. कारण है कि टैक्स, बैंक चार्ज और अन्य शुल्क जैसी कुछ लागतें शामिल होती हैं.
6) आप अपने प्रियजनों को उपहार के रूप में भी सोने को भेज सकते हैं.
7) सिक्कों में सोने को बदलने की शुरुआत 1 ग्राम से होती है. डिलीवरी और मेकिंग चार्ज अलग से लगता है.

आपको क्या करना चाहिए?
डिजिटल गोल्ड सोने में निवेश का सुविधाजनक तरीका है. हालांकि, बेचने वाली कंपनी या प्लेटफॉर्म को चुनने का निर्णय लेते समय आपको विभिन्न फीचरों और उत्पाद पर शुल्कों की तुलना कर लेनी चाहिए. इसके अलावा बाजार में उपलब्ध सोने और सोने से जुड़े निवेश विकल्पों की विशेषताएं काफी अलग हैं. इसलिए निवेशकों को पैसा लगाने से पहले अपनी जरूरतों और वित्तीय लक्ष्यों की समीक्षा कर लेनी चाहिए.

हिन्दी में शेयर पेशकश करने के लिए प्लेटफॉर्म क्या है? बाजार और पर्सनल फाइनेंस पर नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. पेज लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें

घर बैठे आप ऑनलाइन खरीद सकते हैं सोना, ये हैं तरीके

एमएमटीसी-पीएएमपी प्लेटफॉर्म से सोना खरीदने पर कोई स्टोरेज चार्ज नहीं लगता है.

घर बैठे आप ऑनलाइन खरीद सकते हैं सोना, ये हैं तरीके

कौन कर रहा है पेशकश : आप पेटीएम, मोबिक्विक और फोनपे जैसे मोबाइल वॉलेट के माध्यम से और स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया की गोल्ड रश स्कीम के तहत ऑनलाइन सोना खरीद सकते हैं. सोने की खरीद के ये सभी विकल्प या तो एमएमटीसी-पीएएमपी या सेफगोल्ड या दोनों के सहयोग से दिए जाते हैं.

एमएमटीसी-पीएएमपी सरकारी स्वामित्व वाली एमएमटीसी और स्विट्जरलैंड की पीएएमपी एसए के बीच ज्वाइंट वेंचर है. सेफगोल्ड डिजिटल प्लेटफॉर्म है, जो विभिन्न मोबाइल वॉलेट एप्स से जुड़ा हुआ है. यह ग्राहकों को सोना खरीदने और बेचने की सहूलियत देता है.

शुद्धता : एमएमटीसी-पीएएमपी और सेफगोल्ड दोनों 24 कैरेट सोने की पेशकश करते हैं. हालांकि, फाइननेस के मामले में एमएमटीसी-पीएएमपी 99.9 फीसदी शुद्धता के सोने की पेशकश करता है. जबकि सेफगोल्ड 99.5 फीसदी की. कुल वजन में सोने का कितना अनुपात होता है, उसे फाइननेस कहते हैं.

सुरक्षा : इन प्लेफॉर्म से खरीदे जाने वाले सोने को खास तिजोरी में रखा जाता है. ये पूरी तरह से सुरक्षित होती हैं.

कितने समय तक रख सकते हैं सोना : एमएमटीसी-पीएएमपी प्लेटफॉर्म से सोना खरीदने पर कोई स्टोरेज चार्ज नहीं लगता है. कोई भी अधिकतम पांच साल तक सोने को रख सकता है. हालांकि, पांच सालों के बाद आपको इसे सोने के सिक्कों में बदलने या इसे बेचने की आवश्यकता पड़ती है. अपने खाते को निष्क्रिय होने से बचाने के लिए आपको कम से कम हर छह महीने में एक ट्रांजेक्शन करना होगा.

फोनपे या मोबिक्विक का उपयोग करके सेफगोल्ड से सोना खरीदने पर स्टोरेज चार्ज लिए जाते हैं. सेफगोल्ड प्लेटफॉर्म के जरिए फोनपे पर खरीदे गए सोने के लिए यदि पहले दो वर्षों में सोने की मात्रा दो ग्राम से अधिक है, तो कोई शुल्क नहीं है. यदि यह दो ग्राम से कम है, तो प्रति माह 0.05 फीसदी का शुल्क लिया जाता है.

दूसरी ओर मोबिक्विक से खरीदा गया सोना अधिकतम सात वर्षों तक स्टोर किया जा सकता है. इसमें स्टैंडर्ड प्रोसेसिंग चार्ज और जीएसटी लगते हैं. हालांकि, मोबिक्विक ने यह नहीं बताया है कि ये शुल्क कितने हैं.

फोनपे पर सोने के फीचर
1) सोने की खरीद 1 रुपये या 0.001 ग्राम से शुरू होती है. हालांकि, इसे बेचने के लिए आपके पास सोने की न्यूनतम 5 रुपये के मूल्य का सोना होना चाहिए. आप उसी दिन खरीद और बिक्री नहीं कर सकते हैं.
2) ऐप पर दिखार्इ जाने वाली सोने की दर में कस्टम ड्यूटी और टैक्स शामिल होते हैं. फाइननेस में अंतर के कारण एमएमटीसी-पीएएमपी और सेफगोल्ड के सोने की दरों में भी अंतर दिखता है.
3) खरीद और बिक्री की लाइव दर 5 मिनट के लिए मान्य होती है.
4) एक दिन में अधिकतम 49,999 रुपये के सोने की खरीद कर सकते हैं. अधिकतम आप 60 ग्राम सोना जुटा सकते हैं.
5) कोई भी दोनों प्लेटफॉर्म से सोना खरीद सकता है. प्रत्येक लॉकर का रखरखाव अलग-अलग होता है.
6) सोने को सिक्कों में बदलने की शुरुआत 1 ग्राम से होती है. आपको लागू डिलीवरी और मेकिंग चार्ज का भुगतान करना होगा.
7) सोने के सिक्के को टैंपर प्रूफ पैकेजिंग में भेजा जाता है.

पेटीएम के डिजिटल गोल्ड के फीचर
1) सोने को खरीदने का न्यूनतम मूल्य 1 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये है. ग्राम में आप न्यूनतम 0.0005 ग्राम और अधिकतम 50 ग्राम खरीद सकते हैं.
2) सोने की बिक्री 0.0004 ग्राम या 5 रुपये से शुरू होती है. लाइव मूल्य ट्रांजेक्शन पूरा होने के 6 मिनट तक मान्य होते हैं.
3) पांच साल बाद सोने को रखने पर अतिरिक्त शुल्क लगाया जाएगा. हालांकि, पेटीएम ने यह नहीं बताया कि यह शुल्क कितना है.
4) बिक्री के समय आपको अपना बैंक खाता और आईएफएससी कोड विवरण देना होगा. 72 घंटे के भीतर पैसा आपके खाते में जमा हो जाएगा.
5) एफएक्यू सेक्शन के मुताबिक, बिक्री मूल्य खरीद मूल्य से कम होंगे. कारण है कि टैक्स, बैंक चार्ज और अन्य शुल्क जैसी कुछ लागतें शामिल होती हैं.
6) आप अपने प्रियजनों को उपहार के रूप में भी सोने को भेज सकते हैं.
7) सिक्कों में सोने को बदलने की शुरुआत 1 ग्राम से होती है. डिलीवरी और मेकिंग चार्ज अलग से लगता है.

आपको क्या करना चाहिए?
डिजिटल गोल्ड सोने में निवेश का सुविधाजनक तरीका है. हालांकि, बेचने वाली कंपनी या प्लेटफॉर्म को चुनने का निर्णय लेते समय आपको विभिन्न फीचरों और उत्पाद पर शुल्कों की तुलना कर लेनी चाहिए. इसके अलावा बाजार में उपलब्ध सोने और सोने से जुड़े निवेश विकल्पों की विशेषताएं काफी अलग हैं. इसलिए निवेशकों को पैसा लगाने से पहले अपनी जरूरतों और वित्तीय लक्ष्यों की समीक्षा कर लेनी चाहिए.

हिन्दी में शेयर बाजार और पर्सनल फाइनेंस पर नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. पेज लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें

Netflix पासवर्ड शेयर करना पड़ेगा भारी, देना पड़ेगा एक्स्ट्रा चार्ज, आ रहा नया नियम

कंपनी अपने बिजनेस मॉडल में बदलाव करने जा रही है। इसके तहत नए प्लान पेश किए जाएंगे, साथ ही विज्ञापनों को भी दिखाया जाएगा। कंपनी अब दूसरों के साथ नेटफ्लिक्स पासवर्ड शेयर करने पर पैसे भी चार्ज करेगी।

Netflix पासवर्ड शेयर करना पड़ेगा भारी, देना पड़ेगा एक्स्ट्रा चार्ज, आ रहा नया नियम

क्या आप भी पॉपुलर ओटीटी प्लेटफॉर्म Netflix का पासवर्ड शेयर करते हैं? जल्द ही कंपनी आपको बड़ा झटका देने वाली है। ताजा रिपोर्ट की मानें तो कंपनी अपने बिजनेस मॉडल में बदलाव करने जा रही है। इसके तहत नए प्लान पेश किए जाएंगे, साथ ही विज्ञापनों को भी दिखाया जाएगा। इतना ही नहीं, कंपनी अब दूसरों के साथ नेटफ्लिक्स पासवर्ड शेयर करने पर पैसे भी चार्ज करेगी।

नेटफ्लिक्स ने हाल ही में कहा था कि 10 करोड़ से ज्यादा घर ऐसे हैं जो नेटफ्लिक्स का इस्तेमाल तो कर रहे हैं लेकिन इसके लिए भुगतान नहीं कर रहे हैं। ये लोग अपने दोस्तों या साथ काम करने वाले लोगों से पासवर्ड ले लेते हैं। इसके चलते कंपनी अब पासवर्ड शेयर करने के लिए चार्ज वसूलने की योजना बना रही है।

सस्ते प्लान, लेकिन विज्ञापनों के साथ
कंपनी इसके साथ ही कुछ सस्ते प्लान भी पेश कर सकती है। हालांकि उसमें यूजर्स को विज्ञापन देखने होंगे। इस मामले में नेटफ्लिक्स थोड़ा पीछे भी तल रही है। डिज़्नी+ हॉटस्टार, एचबीओ मैक्स पेशकश करने के लिए प्लेटफॉर्म क्या है? और ऐसे ही प्रमुख स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म पहले से ही यूजर्स को इस तरह की योजना की पेशकश कर रहे हैं।

कम हो रहे सब्सक्राइबर्स
नेटफ्लिक्स ने पिछली तिमाही में बड़ी संख्या में ग्राहकों को खो दिया है। जून तिमाही में यह संख्या और भी बढ़ सकती है। इससे पता लगता है कि अब यूजर्स नेटफ्लिक्स प्रीमियम में ज्यादा रुचि नहीं रखते हैं। नए प्लान आने से कंपनी को थोड़ी राहत मिल सकती है।

लॉन्च हुआ OTTplay Premium, सिर्फ एक सब्सक्रिप्शन में 12 OTT प्लेटफॉर्म का मजा, कीमत ₹50 से शुरू

यहां आपको SonyLIV, ZEE5, Lionsgate Play, Sun NXT, ShemarooMe, Curiosity Stream, ShortsTV और DocuBay जैसी स्ट्रीमिंग सर्विस के अलावा चार इंटरनेशनल ब्रैंड्स की मेंबरशिप दी जा रही है।

लॉन्च हुआ OTTplay Premium, सिर्फ एक सब्सक्रिप्शन में 12 OTT प्लेटफॉर्म का मजा, कीमत ₹50 से शुरू

ऑनलाइन फिल्में और वेब पेशकश करने के लिए प्लेटफॉर्म क्या है? सीरीज पसंद करने वाले यूजर्स के लिए अब एक नया प्लेटफॉर्म आ गया है। इसका नाम OTTplay Premium है, जिसे हाल ही में मुंबई में एक इवेंट के दौरान लॉन्च किया गया। खास बात है कि इस प्लेटफॉर्म पर आपको 12 इंडियन और इंटरनेशनल वीडियो स्ट्रीमिंग सर्विस एक साथ दी जा रही हैं। आपको बता दें कि OTTplay को पिछले साल HT Labs (जो HT Media का हिस्सा है) ने स्ट्रीमिंग सर्विस का कॉन्टेंट सर्च करने और सजेस्ट करने के लिए पेश किया था, जिसे अब स्ट्रीमिंग सर्विस में बदल दिया गया है।

सब्सक्राइबर्स भाषा के आधार पर या सब्जेक्ट आधारित सब्सक्रिप्शन बंडल में से चुन सकते हैं। यहां आपको SonyLIV, ZEE5, Lionsgate Play, Sun NXT, ShemarooMe, Curiosity Stream, ShortsTV और DocuBay जैसी स्ट्रीमिंग सर्विस के अलावा चार इंटरनेशनल ब्रैंड्स- Hallmark Movies Now, DUST, FUSE+ और Tastemade+ की मेंबरशिप भी दी जाती है। ये इंटरनेशनल ब्रैंड्स अब तक भारत में उपलब्ध नहीं थे।

OTTplay सब्सक्रिप्शन iOS और एंड्रॉइड डिवाइस और इसकी वेबसाइट पर काम करेगा। यहां आप 9 भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय भाषाओं के साथ 18 से ज्यादा शैलियों में 20,000 से ज्यादा शो का मजा ले सकेंगे। ग्राहक पेशकश करने के लिए प्लेटफॉर्म क्या है? सिर्फ एक सब्सक्रिप्शन के जरिए 12 अलग-अलग ओटीटी प्लेटफॉर्म से अपने पसंदीदा कंटेंट को एक्सेस कर सकेंगे। हाल के यूजर सर्वे से पता लगा है कि ग्राहकों को एक ऐसे बंडल सब्सक्रिप्शन की जरूरत है जहां वे एक साथ अलग-अलग OTT कॉन्टेंट देख सकें।

लॉन्च इवेंट में, OTTplay के फाउंडर अविनाश मुदलियार ने कहा, 'यह अपनी तरह का पहला प्रोडक्ट है। हम क्यूरेशन, एग्रीगेशन, रेकमेन्डेशन और पर्सनलाइजेशन के विशेषज्ञ हैं। OTTplay ऐप पेशकश करने के लिए प्लेटफॉर्म क्या है? पर सब्सक्रिप्शन के लॉन्च के साथ, हमें दर्शकों के बताने और कॉन्टेंट देखने के पैटर्न के आधार पर अब उनकी प्राथमिकताओं की बेहतर समझ है।' इस प्लेटफॉर्म का उद्देश्य है कि ग्राहक अपने लिए सही कॉन्टेंट ढूंढने की जगह पसंदीदा कॉन्टेंट देखने में समय व्यतीत करें।

5 सब्सक्रिप्शन पैक
OTTplay Premium पर आपको 5 तरह के सब्सक्रिप्शन पैक मिलते हैं। इनमें झकास (5 हिंदी OTT), टोटली शॉर्टेड (8 इंग्लिश OTT), सिंपली पेशकश करने के लिए प्लेटफॉर्म क्या है? साउथ (साउथ इंडिया भाषा वाले 4 OTT) और छोटा पटाका (5 मिक्स OTT) शामिल हैं। खास बात है कि इनकी कीमत सिर्फ 50 रुपये प्रति माह से शुरू होती है। सालाना पेमेंट से आप पैसों की काफी बचत कर सकते हैं, जो इन OTT सब्सक्रिप्शन को अलग-अलग लेने से काफी कम होगा। कॉन्टेंट देखने के अलावा यूजर्स यहां किसी शो की रेटिंग, रिव्यूज, स्टार्स के इंटरव्यू और OTT संबंधित न्यूज देख सकेंगे।

रेटिंग: 4.33
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 252
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *