अध्ययन का सामग्री

क्रिप्टोकरेंसी क्यों बनाई गई

क्रिप्टोकरेंसी क्यों बनाई गई
बताया जा रहा है कि वित्त मंत्रालय द्वारा तैयार किए गए विधेयक में कई संशोधन किये गए हैं और बुधवार को होने वाली केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में इसे पेश किया जा सकता है. कैबिनेट की मंजूरी के बाद इसे चालू सत्र में पेश किया जा सकता है.

shiba-inu

ये तीनों हैं देश के पहले क्रिप्टो अरबपति, इनकी बनाई Polygon क्रिप्टोकरेंसी Top 20 डिजिटल करेंसी में शामिल

भारतीय ब्लॉकचेन प्लेटफॉर्म यानी भरत में बने क्रिप्टोकरेंसी पॉलीगॉन (Polygon) के को-फाउंडर्स जयंती कनानी (Jaynti Kanani), संदीप नेलवाल (Sandeep Nailwal) और अनुराग अर्जुन (Anurag Arjun) भारत के पहले क्रिप्टो अरबपति (Crypto Billionaires) बन गए हैं। इनके द्वारा डेवलप क्रिप्टोकरेंसी Polygon का वैल्यूएशन वर्ष 2019 में केवल 26 मिलियन डॉलर यानी करीब 190 करोड़ रुपये था जो अब बढ़कर 14 बिलियन डॉलर यानी 1.2 लाख करोड़ रुपये हो गया।

पिछले एक महीने में Polygon की कीमतों में 160% से अधिक की उछाल आई है। 28 अप्रैल को इसकी कीममत 0.73 लॉलर से भी कम थी जो आज 1.90 डॉलर पर ट्रेड कर रही है। 18 मई को इसकी कीमतें 3 डॉलर यानी 220 रुपये के ऑल-टाइम हाई पर पहुंच गई। पॉलीगॉन के वैल्यूएशन में आई इस जबरदस्त तेजी की वजह से जयंती कनानी, संदीप नेलवाल और अनुराग अर्जुन देश के पहले क्रिप्टो अरबपति बन गए हैं। Polygon दुनिया की टॉप 20 डिजिटल करेंसी में शामिल है।

ये तीनों हैं देश के पहले क्रिप्टो अरबपति, इनकी बनाई Polygon क्रिप्टोकरेंसी Top 20 डिजिटल करेंसी में शामिल

भारतीय ब्लॉकचेन प्लेटफॉर्म यानी भरत में बने क्रिप्टोकरेंसी पॉलीगॉन (Polygon) के को-फाउंडर्स जयंती कनानी (Jaynti Kanani), संदीप नेलवाल (Sandeep Nailwal) और अनुराग अर्जुन (Anurag Arjun) भारत के पहले क्रिप्टो अरबपति (Crypto Billionaires) बन गए हैं। इनके द्वारा डेवलप क्रिप्टोकरेंसी Polygon का वैल्यूएशन वर्ष 2019 में केवल 26 मिलियन डॉलर यानी करीब 190 करोड़ रुपये था जो अब बढ़कर 14 बिलियन डॉलर यानी 1.2 लाख करोड़ रुपये हो गया।

पिछले एक महीने में Polygon की कीमतों में 160% से अधिक की उछाल आई है। 28 अप्रैल को इसकी कीममत 0.73 लॉलर से भी कम थी जो आज 1.90 डॉलर पर ट्रेड कर रही है। 18 मई को इसकी कीमतें 3 डॉलर यानी 220 रुपये के ऑल-टाइम हाई पर पहुंच गई। पॉलीगॉन के वैल्यूएशन में आई इस जबरदस्त तेजी की वजह से जयंती कनानी, संदीप नेलवाल और अनुराग अर्जुन देश के पहले क्रिप्टो अरबपति बन गए हैं। Polygon दुनिया की टॉप 20 डिजिटल करेंसी में शामिल है।

Bitcoin या Ether नहीं बल्कि Shiba Inu रही साल 2021 की सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी – रिपोर्ट

shiba-inu-most-popular-cryptocurrency-2021-not-bitcoin-ether

Shiba Inu is the most popular crypto of 2021: वैसे तो इस साल क्रिप्टोकरेंसी के मुद्दों पर काफ़ी बातें होती रहीं, लेकिन आपमें से शायद बहुतों को अभी भी क्रिप्टोकरेंसी का नाम सुनते ही सबसे पहले बिटकॉइन (Bitcoin) का ख़्याल आता होगा। हो भी क्यों ना Bitcoin दुनिया की कुछ सबसे महँगी और लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी जो है।

लेकिन शायद अब नहीं! जी हाँ! साल 2021 में लोकप्रियता के मामले में एक नई क्रिप्टोकरेंसी ने Bitcoin को भी पीछे छोड़ दिया है। असल में हम बात कर रहें हैं Meme-आधारित करेंसी शीबा इनु (Shiba Inu) की।

Cryptocurrency Bill: इस दिन कैबिनेट में पेश हो सकता है क्रिप्टोकरेंसी बिल, जानें क्या है क्रिप्टोकरेंसी बिल

Cryptocurrency Bill: इस दिन कैबिनेट में पेश हो सकता है क्रिप्टोकरेंसी बिल, जानें क्या है क्रिप्टोकरेंसी बिल

Bitcoin Prices Today: भले ही क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को विनियमित करने को लेकर कई क्रिप्टोकरेंसी क्यों बनाई गई सवाल अनसुलझे हैं, नरेंद्र मोदी सरकार (Modi Sarkar) लोगों को क्रिप्टोकरेंसी को सम्पति (cryptocurrencies as asset not currency) के रूप में रखने की अनुमति देने पर विचार कर रही है, न कि मुद्रा के रूप में.

Bitcoin Prices Today: भले ही क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को विनियमित करने को लेकर कई सवाल अनसुलझे हैं, नरेंद्र मोदी सरकार (Modi Sarkar) लोगों को क्रिप्टोकरेंसी को सम्पति (cryptocurrencies as asset not currency) के रूप में रखने की अनुमति देने पर विचार कर रही है, न कि मुद्रा के रूप में. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक क्रिप्टोकरेंसी के अनियंत्रित विकास से निपटने के लिए एक नियामक तंत्र स्थापित करने के उद्देश्य से प्रस्तावित कानून में अंतिम समय में बदलाव की प्रक्रिया चल रही है. वही सरकार पर शीतकालीन सत्र में विधेयक पेश करने का दबाव है.

Cryptocurrency Bill: इस दिन कैबिनेट में पेश हो सकता है क्रिप्टोकरेंसी बिल, जानें क्या है क्रिप्टोकरेंसी बिल

Cryptocurrency Bill: इस दिन कैबिनेट में पेश हो सकता है क्रिप्टोकरेंसी बिल, जानें क्या है क्रिप्टोकरेंसी बिल

Bitcoin Prices Today: भले ही क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को विनियमित करने को लेकर कई सवाल अनसुलझे हैं, नरेंद्र मोदी सरकार (Modi Sarkar) लोगों को क्रिप्टोकरेंसी को सम्पति (cryptocurrencies as asset not currency) के रूप में रखने की क्रिप्टोकरेंसी क्यों बनाई गई अनुमति देने पर विचार कर रही है, न कि मुद्रा के रूप में.

Bitcoin Prices Today: भले ही क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को विनियमित करने को लेकर कई सवाल अनसुलझे हैं, नरेंद्र मोदी सरकार (Modi Sarkar) लोगों को क्रिप्टोकरेंसी को सम्पति (cryptocurrencies as asset not currency) के रूप में रखने की अनुमति देने पर विचार कर रही है, न कि मुद्रा के रूप में. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक क्रिप्टोकरेंसी के अनियंत्रित विकास से निपटने के लिए एक नियामक तंत्र स्थापित करने के उद्देश्य से प्रस्तावित कानून में अंतिम समय में बदलाव की प्रक्रिया चल रही है. वही सरकार पर क्रिप्टोकरेंसी क्यों बनाई गई शीतकालीन सत्र में विधेयक पेश करने का दबाव है.

रेटिंग: 4.60
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 680
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *