अध्ययन का सामग्री

दलाल सेवाएं

दलाल सेवाएं
शास्त्रीय समूह प्रस्तुतियों में राजकोट की हर्षा ठक्कर कानाबर तथा जयपुर की हर्षिता शर्मा के दल का चयन किया गया। फ्यूजन श्रेणी में दीव के टीम राइजिंग स्टार दल ने नेशनल के लिये दस्तक दी।

गेहूं की खेती में किसान डीएपी की जगह करें इन उर्वरकों का प्रयोग, नहीं होगा नुकसान

नीतीश कैबिनेट ने 31 प्रस्तावों पर लगाई मुहर, आंगनबाड़ी बहाली प्रक्रिया में बड़े बदलाव, जानें डिटेल

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार. (फोटो- News18)

  • News18 Bihar
  • Last Updated : November 30, 2022, 09:13 IST

हाइलाइट्स

बिहार कैबिनेट का बड़ा फैसला, आंगनबाड़ी बहाली दलाल सेवाएं प्रक्रिया में बदलाव.
शराब का धंधा छोड़ने पर मिलेंगे 1 लाख, 31 प्रस्तावों को स्वीकृति मिली.
सरदार वल्लभ भाई पटेल की पुण्यतिथि प्रति वर्ष 15 दिसंबर को मनेगी.

पटना. बिहार कैबिनेट ने 31 महत्वपूर्ण प्रस्तावों पर स्वीकृति दे दी है. इनमें से सबसे अहम यह रहा कि मुख्यमंत्री की जनता दरबार में मिली शिकायत को गंभीरता से लेते हुए सरकार ने बदलाव के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया. समाज कल्याण विभाग के समेकित बाल विकास सेवाएं योजना के तहत आंगनबाड़ी सेविका और सहायिका चयन मार्गदर्शिका-2022 को पूरी तरह से पारदर्शी बनाने का प्रावधान निश्चिय किया है. नीतीश सरकार ने महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए यह तय कर दिया है कि अब 12वीं पास ही सेविका और दसवीं पास सहायिका बन सकेंगी. हालांकि, चयन का आधार अधिकतम शैक्षणिक योग्यता निर्धारित है.

आपके शहर से (पटना)

Bihar & Jharkhand News: तमाम ख़बरें फटाफट अंदाज़ में | Top Headlines | 200 Gaon 200 Khabar

ED की एक दलाल सेवाएं और बड़ी कार्रवाई, पूजा सिंघल की अवैध संपत्ति अटैच , 82.77 करोड़ रुपए की संपत्ति अटैच

Trains Canceled: सीवान जंक्शन से गुजरने वाली ये पैसेंजर ट्रेनें 3 महीने के लिए रद्द, देखें पूरी लिस्ट

Bihar & Jharkhand News: तमाम ख़बरें फटाफट अंदाज़ में | Top Headlines | Gaon Sheher 100 Khabar

Bihar Board Exam Registration: बिहार बोर्ड परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन का और मौका, अब इस तारीख तक भरें फॉर्म

Jharkhand 20-20 | Jharkhand की 20 बड़ी ख़बरें फटाफट अंदाज़ में | Top Headlines | 1 Dec 2022

Bihar & Jharkhand News: तमाम ख़बरें फटाफट अंदाज़ में | Top Headlines | Gaon Sheher 100 Khabar

Gaon Sheher 100 Khabar | Top News Headlines | अब तक की बड़ी दलाल सेवाएं खबरों पर एक नजर | 1 December 2022

अब “शांतिदेवी” को ED का बुलावा,छत्तीसगढ़ की सुपर सीएम सौम्या चौरसिया ने माँ के नाम पर खरीदी करोडो की जमीन,दलाल सेवाएं सीएम बघेल के पाटन इलाके से गुजर रही रेल्वे लाइन के इर्द- गिर्द खरीदी गई जमीन को लेकर पूछताछ

रायपुर :छत्तीसगढ़ की आम जनता रोजी-रोटी के लिए दिन-भर मेहनत कर बा-मुश्किल दो-तीन सौ रूपए अर्जित करती है। वही ED की छापेमारी में सामने आया है कि कोयला दलाल सूर्यकांत तिवारी सिर्फ अकेले रोजाना दो से तीन करोड़ रूपए कमाता था। इससे आप अंदाज़ा लगा सकते है कि इस टोली में शामिल आईएएस और आईपीएस अफसर रोजाना कितने का वारा न्यारा कर रहे है।

यही नहीं इस टोली के मुखिया की तिजोरी में रोजाना कितनी रकम जमा होती होगी, इसका आंकलन भी सहजता से किया जा सकता है। IT-ED की छापेमारी से यह तथ्य दलाल सेवाएं दलाल सेवाएं भी सामने आया है कि छत्तीसगढ़ से “गब्बर सिंह टैक्स” के रूप में प्रतिमाह लगभग 800 करोड़ की अवैध वसूली होती थी। सूत्र बताते है कि छत्तीसगढ़ में बीते लगभग 4 सालो में अखिल भारतीय सेवाओं के कुछ चुनिंदा अफसरों ने दो-दो सौ करोड़ से ज्यादा की रकम पर हाथ साफ़ किया है।

डीएपी की जगह किस उर्वरक के उपयोग की दी जा रही है सलाह

हरियाणा में किसानों को डीएपी खाद मिलने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में यहां के कृषि मंत्री ने राज्य के किसानों को डीएपी की जगह अन्य उर्वरक के इस्तेमाल की सलाह दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि प्रदेश सरकार की ओर से किसानों को गेहूं की बिजाई के लिए पर्याप्त मात्रा में डीएपी उपलब्ध करवाने की कोशिश की जा रही है। किसान गेहूं की बिजाई में डीएपी खाद के स्थान पर एसएसपी व एनपीके का प्रयोग कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में दलाल सेवाएं वर्तमान में 23 हजार मीट्रिक टन डीएपी, 52 हजार मीट्रिक टन एसएसपी एवं 7 हजार मीट्रिक टन एनपीके स्टॉक के रूप में उपलब्ध हैं। डीएपी के स्थान पर गेहूं की बिजाई में दूसरे उर्वरक भी प्रयोग में लिए जा सकते हैं। हिसार स्थित चौधरी चरण सिंह कृषि विश्वविद्यालय की सिफारिश के अनुसार एक बैग डीएपी या 3 बैग एसएसपी या डेढ़ बैग एनपीके का प्रयोग करके फॉस्फोरस की आपूर्ति पूर्ण कर सकते हैं। गत वर्ष सितंबर से नवंबर तक प्रदेश में 2 लाख 78 हजार मीट्रिक टन डीएपी की बिक्री हुई थी। इस वर्ष सितंबर से नवंबर तक प्रदेश में 3 लाख 6 हजार मीट्रिक टन डीएपी की बिक्री हो चुकी है। केंद्र सरकार की तरफ से राज्य में प्रतिदिन 2 से 3 हजार मीट्रिक टन डीएपी, एनपीके उपलब्ध करवाया जा रहा है। खाद की बिक्री प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) दलाल सेवाएं मशीन से की जानी सुनिश्चित की है।

किस मात्रा में किया जा सकता है डीएपी की जगह एसएसपी का इस्तेमाल

प्रति बैग डीएपी में 23 किलो फास्फोरस एवं 9 किग्रा नत्रजन पाया जाता है। डीएपी के विकल्प के रूप में 3 बैग एसएसपी एवं 1 बैग यूरिया का प्रयोग किया जाता है तो इन दोनों उर्वरकों से डीएपी की तुलना में कम मूल्य पर नाइट्रोजन एवं फास्फोरस की अधिक पूर्ति होने के साथ-साथ द्वितीय पोषक तत्व के रूप में सल्फर एवं कैल्शियम भी प्राप्त किया जा सकता है।

डीएपी से कितना सस्ता पड़ता एसएसपी

जहां डीएपी के एक बैग की लागत 1200 रुपए आती है जिसमें 23 किलोग्राम फास्फोरस और 9 किलोग्राम नत्रजन होता है। जबकि डीएपी की जगह 3 बैग एसएसपी और एक बैग यूरिया की कुल लागत करीब 1166 रुपए आती है। जिसमें पोषक तत्व फस्फोरस 24 किलोग्राम, नाईट्रोजन 20 किलोग्राम ओर 16 किलोग्राम सल्फर होता है। इसलिए किसानों को डीएपी दलाल सेवाएं की जगह दूसरे विल्कप यानि एसएसपी और यूरिया के उपयोग की सलाह दी जा रही है।

भारत में मिनी ट्रैक्टर की जानकारी के लिए यहां क्लिक करें । दलाल सेवाएं

डीएपी, एसएसपी और एनपीके की कीमत 2022

इफको ने वर्ष 2022 के खरीफ सीजन के लिए रासायनिक उर्वरक का मूल्य जारी किया गया है। इसके अनुसार किसान जिस कीमत पर बाजार से उर्वरक की खरीद कर पाएंगे, वे इस प्रकार से हैं-

  • यूरिया – 266.50 रुपए प्रति बैग (45 किलोग्राम)
  • डीएपी – 1,350 रुपए प्रति बैग (50 किलोग्राम)
  • एनपीके – 1,470 रुपए प्रति बैग (50 किलोग्राम)
  • एमओपी – 1,700 रुपए प्रति बैग (50 किलोग्राम)

ट्रैक्टर जंक्शन हमेशा आपको अपडेट रखता है। इसके लिए ट्रैक्टरों के नये मॉडलों और उनके कृषि उपयोग के बारे में एग्रीकल्चर खबरें प्रकाशित की जाती हैं। प्रमुख ट्रैक्टर कंपनियों महिंद्रा ट्रैक्टर , स्वराज ट्रैक्टर आदि की मासिक सेल्स रिपोर्ट भी हम प्रकाशित करते हैं जिसमें ट्रैक्टरों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी दी जाती है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

छः दलों तीन एकल प्रस्तुतियों ने नेशनल लेवल के लिये दी दस्तक

Top 10 Schools in Udaipur

shilpgram

उदयपुर 30 नवंबर 2022। संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार द्वारा आगामी गणतंत्र दिवस परेड के लिये कलाकारों के चयन के लिये आयोजित ‘वंदे भारतम् नृत्य उत्सव’ जोनल लेवल प्रतियोगिता का आयोजन बुधवार को किया गया। जिसमें राजस्थान की एक तथा गुजरात की चार तथा दीव की एक दलीय प्रस्तुति तथा तीन एकल प्रस्तुतियों ने दिल्ली में आयोज्य नेशनल लेवल कम्पीटीशन के दलाल सेवाएं लिये अपने राज्य की ओर से दस्तक दी।

शादी के नाम पर तिगुने उम्र के दूल्हे को बेच दी नाबालिग बेटी, गिरफ्तार

पटना/अररिया : गरीबी और पिछड़ापन बिहार की तकदीर बन गई है। कोई शासन, कोई सरकार आये, जाये, लेकिन कुछ फर्क नहीं पड़ता। इस गरीबी और पिछड़ेपन की जीती जागती हकीकत यहां के समाज में नित घटने वाली मजबूरी की दास्तानों में आये दिन प्रकट हो जाती है। ऐसी ही दलाल सेवाएं एक सनसनीखेज हकीकत अररिया में सामने आई है जहां महज 12 हजार रुपये के लिए एक कलयुगी मां ने अपनी 12 साल की नाबालिग बेटी को बेच दिया। वह भी शादी के नाम पर। लड़की की शादी दो दिन पहले ही उससे एक तिगुने उम्र के मर्द के साथ कर दी गई।

वाकया अररिया के रानीगंज थाना क्षेत्र के हांसा गांव की है। जानकारी के अनुसार मध्यस्थ दलालों ने लड़की की मां को पैसे का लालच देकर उससे तिगुनी उम्र के शख्स से ब्याह देने के लिए तैयार कर लिया। सारा सौदा नाबालिग बेटी के पिता की गैरमौजूदगी में किया गया। जब बाप को सारे मामले की जानकारी हुई तो वह थाने पहुंच गया और शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने बीती देर रात को छापा मार कर इस शादी में बीचवान की भूमिका निभाने वाले दलाल और दूल्हे को गिरफ्तार कर लिया।

रेटिंग: 4.30
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 814
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *