फॉरेक्स मार्केट

आगे अनुबंध

आगे अनुबंध

बीसीसीआई जल्द करेगा सालाना अनुबंध का ऐलान, ये खिलाड़ी प्रमोशन की रेस में सबसे आगे

सूत्रों के अनुसार अंतिम सूची में शामिल 28 खिलाड़ियों के नामों में ज्यादा बदलाव नहीं होने जा रहा, लेकिन कुछ खिलाड़ियों की श्रेणियों में जरूर अदला-बदली हो सकती है.

खास बातें

  • विराट कोहली बने रहेंगे ए+ ग्रेड में
  • ए+ और ए ग्रेड में बढ़ेगी खिलाड़ियों की संख्या
  • हर्षल पटेल और ऋतुराज गायकवाड़ों को पहली बार मिल सकता है अनुबंध

नयी दिल्ली: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) जल्द ही अगले सीजन के लिए अपने सालाना अनुबंधित खिलाड़ियों के नामों का ऐलान कर सकता है. अधिकारियों और शीर्ष सदस्यों के बीच खिलाड़ियों के नामों और उनके प्रदर्शन को लेकर विचार और चिंतन-मनन चल रहा है. फिलहाल बीसीसीआई (BCCI Annual Contract) के अनुबंध के तहत चार श्रेणिया हैं. इसके तहत ए+श्रेणी के खिलाड़ी को साल में सात करोड़, ए श्रेणी को पांच, बी को तीन और सी श्रेणी को साल में एक करोड़ रुपये का भुगतान किया जाता है. सूत्रों के अनुसार अंतिम सूची में शामिल 28 खिलाड़ियों के नामों में ज्यादा बदलाव नहीं होने जा रहा, लेकिन कुछ खिलाड़ियों की श्रेणियों में जरूर अदला-बदली हो सकती है. इसमें कोई शक नहीं कि पिछले साल की तरह ही रोहित, कोहली और बुमराह के ए+ श्रेणी में बने रहने की पूरी उम्मीद है. और यहां से सवाल यह है कि सालाना सात करोड़ के लिए केएल राहुल, ऋषभ पंत को बीसीसीआई प्रोन्नति देता है या नहीं. वहीं, सूत्र ने कहा कि बहस का एक बड़ा विषय चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे भी हैं.

सूत्र ने कहा कि इन दोनों को ए ग्रुप में बनाए रखने में कोच राहुल द्रविड़ की राय बहुत ही अहम होने जा रही है और सबकुछ द्रविड़ की ही राय पर निर्भर करेगा. और ऐस ही कुछ ईशांत शर्मा और हार्दिक पंड्या को लेकर भी निर्भर करेगा. ये दोनों ही पिछले साल खराब प्रदर्शन या चोट को लेकर जूझते रहे हैं.

ग्रुप ए में भी कुछ प्रमोशन होंगे. अभी तक ग्रुप बी में शामिल खिलाड़ियों में शारदूल ठाकुर इकलते ऐसे खिलाड़ी रहे हैं, जिन्होंने बेहतर प्रदर्शन किया है, तो ग्रुप सी में मोहम्मद सिराज ने बेहतर किया है. इसके अलावा शुबमन गिल, हनुमा विहारी को भी प्रमोशन मिलने की उम्मीद है. वहीं, नए खिलाड़ियों में वेंकटेश अय्यर और हर्षल पटेल ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्हें पहली बार अनुबंध मिल सकता है. चलिए पिछले सीजन की सूची पर नजर दौड़ा लें:

भारत सरकार

89_azad

केन्‍द्रीय वाणिज्‍य और उद्योग तथा रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि भारत सरकार श्रेष्‍ठ टेक्‍नोलॉजी के साथ अंतर्राष्‍ट्रीय निवेशकों को भारत आकर निवेश करने के लिए मजबूती और विश्‍वास प्रदान करने के लिए चौतरफा सुझावों को ध्‍यान में रखे हुए है। लंदन में कल रात प्रवासी भारतीयों से बातचीत करते हुए उन्‍होंने कहा कि भारतीय समुदाय ने भारत और ब्रिटेन की अर्थव्‍यवस्‍थाओं में योगदान देकर भारत को गौरवान्वित किया है और दोनों देशों के बीच संबंधों को मजबूत बनाया है।

प्रवासी भारतीयों के साथ एक घंटे की बातचीत के दौरान वाणिज्‍य मंत्री आगे अनुबंध ने नवनिर्वाचित सरकार की रणनीति और उसकी प्राथमिकताओं की जानकारी दी। अपने पहले कार्यकाल के दौरान सरकार की प्राथमिकता आवास, बिजली, रसोई गैस और वित्‍तीय समावेशन जैसी आम आदमी की मूलभूत आवश्‍यकताओं को पूरा करना था, जिसका सबसे निचले स्‍तर के नागरिक के जीवन पर भी प्रभाव पड़ा और अंतर देखने को मिला।

श्री पीयूष गोयल ने भारत दिवस के कार्यक्रम को बेहद महत्‍वपूर्ण बताया, जिसमें वह वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारामन द्वारा केन्‍द्रीय बजट-2019-10 में वित्‍तीय कंपनियों के लिए घोषित प्रोत्‍साहनों की जानकारी दे सकेंगे। वाणिज्‍य मंत्री भारत दिवस के कार्यक्रमों को 15 जुलाई की शाम संबोधित करेंगे, जहां वित्‍तीय कंपनियों के विचारक भी शामिल होंगे। उन्‍होंने कहा कि वे भारत के वित्‍तीय क्षेत्र खासतौर से गुजरात के गांधीनगर के नजदीक, गुजरात अंतर्राष्‍ट्रीय वित्‍त टेक-सिटी की चर्चा करेंगे।

ब्रिटेन और अमरीका के साथ व्‍यापार के बारे में वाणिज्‍य और उद्योग आगे अनुबंध मंत्री ने कहा कि भारत आमने-सामने बैठकर दोनों देशों के साथ साझा बैठक स्‍थल का पता लगाएगा। उन्‍होंने कहा कि निश्चित रूप से प्रत्‍येक पक्ष के लिए समझौता करना काफी कठिन है, लेकिन व्‍यावसायिक कारोबार अथवा एक अच्‍छा समझौता करते समय किसी भी परेशानी को दूर करना असंभव नहीं है। उन्‍होंने कहा कि प्रत्‍येक देश को अपने राष्‍ट्रीय हितों, वैधानिक प्रभुसत्‍ता और अपने नागरिकों की रक्षा करनी चाहिए।

श्री पीयूष गोयल ने कहा कि एफटीए ने 2009-10 में भारत में प्रवेश किया और इनमें से कुछ परेशानी खड़ी कर रहे हैं, जिसके कारण अब भारत पुराने बोझ को उतार कर आगे बढ़ने के लिए अमरीका की तरफ देख रहा है।

वाणिज्‍य और उद्योग मंत्री ने कहा कि ब्रिटेन की अपनी तीन दिन की यात्रा के दौरान उन्‍होंने सरकार के नेताओं और अधिकारियों के साथ यह जानकारी प्राप्‍त करने के लिए बातचीत की कि ब्रिटेन किस दिशा और समय सीमा में ब्रेक्सिट होने की तरफ देख रहा है। भारत ब्रिटेन के साथ गहरे अनुबंध के लिए अगला कदम उठाने के उद्देश्‍य से बातचीत कर रहा है। उन्‍होंने कहा कि प्रक्रिया तेजी से चल रही है, ताकि ब्रेक्सिट के प्रभावी होने पर हम तेजी से काम करने के लिए तैयार हैं।

वर्तमान आरसीईपी बातचीत के संबंध में वाणिज्‍य और उद्योग मंत्री ने कहा कि भारत उचित समझौते के लिए कार्य कर रहा है, जो देश के हितों की रक्षा करेगा और अनुचित बाजार पहुंच की इजाजत नहीं देगा। आज के बाद कोई भी समझौता अथवा वाणिज्‍य व्‍यापार समझौता भारत के हितों, देश की प्रभुसत्‍ता की आवश्‍यकताओं और नागरिकों के हितों की कीमत पर नहीं होगा।

वाणिज्‍य और उद्योग मंत्री ने बताया कि उनका मंत्रालय समुची प्रक्रिया में तेजी लाने और पेटेंट कार्यालय को कारगर बनाने का प्रयास कर रहा है। 2014 में पिछले 7 वर्ष का संचित कार्य पड़ा था। उन्‍होंने बताया कि अब से सभी पेटेंट आवेदन सार्वजनिक किए जाएंगे और पारदर्शिता बनाकर रखी जाएगी।

आईपीआर प्रवर्तन के बारे में श्री पीयूष गोयल ने कहा कि भारत आगे अनुबंध को काफी लम्‍बा रास्‍ता तय करना है, क्‍योंकि इस समय प्रक्रिया काफी धीमी है। आईपीआर के आस-पास समूचे ढांचे को मजबूत बनाने की जरूरत है, ताकि अंतर्राष्‍ट्रीय निवेशकों में भारत आकर श्रेष्‍ठ टेक्‍नोलॉजी के साथ निवेश करने के संबंध में विश्‍वास पैदा किया जा सके।

आगे अनुबंध

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई आगे अनुबंध भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी आगे अनुबंध पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि आगे अनुबंध या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

We'd love to hear from you

We are always available to address the needs of our users.
+91-9606800800

फुटबॉल कोच इगोर स्टिमैक ने एएफसी एशियन कप 2023 तक अनुबंध को आगे बढ़ाया

नई दिल्ली, (आईएएनएस)। भारत की पुरुष सीनियर राष्ट्रीय फुटबॉल टीम के मुख्य कोच इगोर स्टिमैक ने मंगलवार को नई दिल्ली में फुटबॉल हाउस आगे अनुबंध में अपने अनुबंध के विस्तार पर हस्ताक्षर किए जो एएफसी एशियाई कप 2023 के अंत तक होगा।

अनुबंध का विस्तार करने के निर्णय की सिफारिश पिछले महीने एआईएफएफ की तकनीकी समिति ने की थी और बाद में कार्यकारी समिति ने पिछले महीने कोलकाता में अपनी संबंधित बैठकों में इसकी पुष्टि की थी।

कार्यकारी समिति ने तकनीकी समिति की सिफारिशों को भी स्वीकार कर लिया कि भारत को एशियन कप के क्वार्टर फाइनल में पहुंचने पर कोच का अनुबंध विस्तार हो जाना चाहिए।

उन्होंने कहा, हमने क्वालीफायर में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है और हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हम एशियाई कप तक अपनी टीम को मजबूत बनाएंगे।

क्रोएशिया के 55 वर्षीय पूर्व खिलाड़ी 2019 से ब्लू टाइगर्स के प्रभारी हैं और उन्होंने इस साल की शुरूआत में लगातार दूसरी बार एएफसी एशियाई कप क्वालीफाई करने के लिए टीम का मार्गदर्शन किया है, जब भारत तीसरे दौर के क्वालीफायर के ग्रुप डी में शीर्ष पर था।

उन्होंने कहा, अब जब हमने क्वालीफिकेशन सुनिश्चित कर लिया है, तो हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि हम एशियाई कप तक सुधार करते रहें और अपना सर्वश्रेष्ठ संयोजन तलाशते रहें।

एआईएफएफ के महासचिव डॉ शाजी प्रभाकरन ने कहा, एआईएफएफ में नई राष्ट्रीय टीम के लिए आगे की गति देखना चाहेगी और हम विशेष रूप से सीनियर राष्ट्रीय टीम के लिए एक नई योजना विकसित करके आगे बढ़ने के लिए तैयार हैं।

महासचिव ने बताया कि फेडरेशन मुख्य कोच, सहयोगी स्टाफ और खिलाड़ियों और क्लबों के साथ मिलकर काम करेगा ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सीनियर राष्ट्रीय टीम के माध्यम से भारतीय फुटबॉल के लिए सकारात्मक परि²श्य तैयार किया जा सके।

रेटिंग: 4.44
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 277
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *