ट्रेड फोरेक्स

क्या मैं विदेशी मुद्रा में पैसे कमा सकता हूं

क्या मैं विदेशी मुद्रा में पैसे कमा सकता हूं

एनआरआई खाते में पैसे भेजने का विकल्प अच्छा है

$ डॉलर कमाने का तरीका – घर बैठे डॉलर में पैसे कैसे कमाए -$ Dollar Kamane Ka Tarika

भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग की चुनौतियां

हिंदी

सोशल मीडिया पर ऑनलाइन फॉरेक्स ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म से संबंधित विभिन्न विज्ञापनों में आप कई बदलाव देख सकते हैं। इनमें से कुछ स्थानीय भारतीय भाषाओं में भी विज्ञापन करते हैं। ये विज्ञापन आमतौर पर इस बारे में बात करते हैं कि फॉरेक्स ट्रेडिंग बाजार में व्यापार करना और जल्दी पैसा बनाना कितना आसान है।

हालांकि , बाजार में किसी भी अन्य निवेश की तरह , यह निवेशकों को क्या मैं विदेशी मुद्रा में पैसे कमा सकता हूं अपने शोध करने के लिए कहता है और फिर अपनी मेहनत की कमाई का निवेश करता है।

फॉरेक्स ट्रेडिंग क्या है?

फॉरेक्स मुद्रा विदेशी मुद्रा बाजार की ओर जाता है , जिसमें फिएट मुद्राओं को खरीद और बिक्री शामिल है। यह वैश्विक स्तर पर मौजूद सबसे बड़े और सबसे अधिक लिक्विड बाजारों में से एक है। समय के साथ , यह वित्तीय क्षमता के कारण निवेशकों के बीच एक व्यापक प्रथा बन गया है। इस विदेशी मुद्रा व्यापार की मदद से प्रभावशाली मौद्रिक लाभ तक पहुंचने के साथ – साथ धन संचय करना संभव है।

ऑनलाइन विदेशी मुद्रा का विक्रय

विशेषकर विदेशी यात्रा का एक अलग ही रोमांच होता है। यह रोमांच चाहे भ्रमण के लिए हो या व्यापार के लिए हो, विदेशी मुद्रा का विनिमय और उससे जुड़ी परेशानियाँ एक जैसी ही होती हैं। लेकिन जब आप इस ट्रिप से वापस आ जाते हैं तब बची हुई विदेशी मुद्रा को आप बेचने का प्रयास करते हैं।

अधितर स्थितियों में विदेश यात्रा पर जाने वाले अपने साथ किसी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए थोड़ी एक्स्ट्रा विदेशी मुद्रा ले कर जाते हैं। क्यूंकी वे क्या मैं विदेशी मुद्रा में पैसे कमा सकता हूं जानते हैं कि विदेशी मुद्रा को विदेशी धरती पर खरीदना महंगा और समय लगाने वाला होता है। इसलिए देर से सुरक्षा भली वाला नियम यहाँ भी लागू होता है और जरूरत से थोड़ी अधिक विदेशी करेंसी अपने साथ लेकर जाएँ और किसी भी अनदेखी परेशानी से बचें। ट्रिप से वापस आने के बाद अगर आप अपनी बची हुई विदेशी मुद्रा का विक्रय नहीं करते हैं तो वह आपके लिए मृत धन के समान है। कुछ लोग यह काम इसलिए भी नहीं कर पाते हैं कि वे ऑनलाइन विक्रय या एजेंट के माध्यम से विक्रय में से उपयुक्त माध्यम क्या मैं विदेशी मुद्रा में पैसे कमा सकता हूं का चयन नहीं कर पाते हैं। थॉमस कुक के पास आपकी हर समस्या का हल है। फिर भी यदि आप अपनी अनुपयोगी विदेशी मुद्रा को ट्रिप कि यादगार बना कर, किसी डर के कारण या ठीक जानकारी न होने के कारण अपने पास रखना चाहते हैं तो इस्क्में कोई समझदारी नहीं है।

एनआरआई इस तरीके से बिना किसी शुल्क के अपने परिजनों को भेज सकते हैं रुपये

प्रतीकात्मक तस्वीर

विदेश से अपने परिवार या किसी अन्य को रुपये भेजते समय कंपनियों या बैंक द्वारा कई तरह के शुल्क लगा दिए जाते हैं। विदेश से रुपये भेजना महंगा पड़ जाता है। मनी ट्रांसफर कंपनियां व बैंक आपसे मनी ट्रांसफर के शुल्क के नाम पर पैसा कमाते हैं। आप वास्तविक समय में विनिमय दरों और हस्तांतरण शुल्क की तुलना करके काफी पैसा बचा सकते हैं।

मनी ट्रांसफर तुलना टूल के साथ, आपको कुछ ही क्लिक में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पैसे भेजने का सबसे अच्छा तरीका मिलेगा। इस से रुपये ट्रांसफर सेवा का चयन करना आसान हो सकता है, लेकिन ऐसा करने से पहले आपको कई महत्वपूर्ण बातों को ध्यान में रखना पड़ेगा।

आख़िर डॉलर कैसे बना दुनिया की सबसे मज़बूत मुद्रा

डॉलर

रूस और भारत के आर्थिक संबंधों में भरोसा इस क़दर बढ़ रहा है कि रूस से दूसरे सबसे बड़े बैंक वीटीबी के चेयरमैन ने भारत से व्यापार में यहां की मुद्रा रुपया से लेन-देन की घोषणा की है. यानी भारत और रूस रुपये और रूबल में व्यापार करेंगे.

रूस की सरकारी समाचार एजेंसी स्पूतनिक ने वीटीबी बैंक के चेयरमैन एंड्र्यू कोस्टिन का बयान छापा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि रूसी बैंक रुपए और रूबल में व्यापार करने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा कि दोनों देशों को इस तरह की व्यवस्था क्या मैं विदेशी मुद्रा में पैसे कमा सकता हूं बनानी चाहिए जिससे अपनी ही मुद्रा में कारोबार हो सके.

एंड्र्यू ने कहा कि अगर सब कुछ ठीक रहा तो महज़ दो सालों में अच्छे नतीजे आ सकते हैं. उन्होंने कहा कि स्थानीय मुद्रा में व्यापार से द्विपक्षीय संबंध और मज़बूत होंगे.

दुनिया की सबसे मज़बूत मुद्रा डॉलर

एक डॉलर की तुलना में रुपया 75 के क़रीब पहुंच गया है. रुपए का मूल्य कम होता है तो आयात बिल बढ़ जाता है और इससे व्यापार घाटा बढ़ता है. भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा तेल आयातक देश है और अपनी ज़रूरत का 60 फ़ीसदी तेल मध्य-पूर्व से आयात करता है.

भारत ने 2017-18 में रूस से 1.2 अरब डॉलर का कच्चा तेल और 3.5 अरब डॉलर के हीरे का आयात किया था. रूस भारत से चाय, कॉफ़ी, मिर्च, दवाई, ऑर्गेनिक केमिकल और मशीनरी उपकरण आयात करता है. दोनों देशों ने 2025 तक द्विपक्षीय कारोबार 30 अरब डॉलर तक करने का फ़ैसला किया है.

2017-18 में दोनों देशों का द्विपक्षीय व्यापार 10.7 अरब डॉलर का था. रूस के साथ भारत का वार्षिक व्यापार घाटा 6.5 अरब डॉलर का है.

अमरीकी मुद्रा डॉलर की पहचान एक वैश्विक मुद्रा की बन गई है. अंतरराष्ट्रीय व्यापार क्या मैं विदेशी मुद्रा में पैसे कमा सकता हूं में डॉलर और यूरो काफ़ी लोकप्रिय और स्वीकार्य हैं. दुनिया भर के केंद्रीय बैंकों में जो विदेशी मुद्रा भंडार होता है उसमें 64 फ़ीसदी अमरीकी डॉलर होते हैं.

डॉलर वैश्विक मुद्रा क्यों है

1944 में ब्रेटन वुड्स समझौते के बाद डॉलर की वर्तमान मज़बूती की शुरुआत हुई थी. उससे पहले ज़्यादातर देश केवल सोने को बेहतर मानक मानते थे. उन देशों की सरकारें वादा करती थीं कि वह उनकी मुद्रा को सोने की मांग के मूल्य के आधार पर तय करेंगे.

न्यू हैम्पशर के ब्रेटन वुड्स में दुनिया के विकसित देश मिले और उन्होंने अमरीकी डॉलर के मुक़ाबले सभी मुद्राओं की विनिमय दर को तय किया. उस समय अमरीका के पास दुनिया का सबसे अधिक सोने का भंडार था. इस समझौते ने दूसरे देशों को भी सोने की जगह अपनी मुद्रा का डॉलर को समर्थन करने की अनुमति दी.

1970 की शुरुआत में कई देशों ने डॉलर के बदले सोने की मांग शुरू कर दी थी, क्योंकि उन्हें मुद्रा स्फीति से लड़ने की ज़रूरत थी. उस समय राष्ट्रपति निक्सन ने फ़ोर्ट नॉक्स को अपने सभी भंडारों को समाप्त करने क्या मैं विदेशी मुद्रा में पैसे कमा सकता हूं की अनुमति देने के बजाय डॉलर को सोने से अलग कर दिया.

दुनिया की एक मुद्रा की बात उठी

देश और दुनिया की बड़ी ख़बरें और उनका विश्लेषण करता समसामयिक विषयों का कार्यक्रम.

दिनभर: पूरा दिन,पूरी ख़बर

मार्च 2009 में चीन और रूस ने एक नई वैश्विक मुद्रा की मांग की. वे चाहते हैं कि दुनिया के लिए एक रिज़र्व मुद्रा बनाई जाए 'जो किसी इकलौते देश से अलग हो और लंबे समय तक स्थिर रहने में सक्षम हो, इस प्रकार क्रेडिट आधारित राष्ट्रीय मुद्राओं के इस्तेमाल से होने वाले नुकसान को हटाया जा सकता है.'

चीन को चिंता है कि अगर डॉलर की मुद्रा स्फीति तय हो जाए तो उसके ख़रबों डॉलर किसी काम क्या मैं विदेशी मुद्रा में पैसे कमा सकता हूं के नहीं रहेंगे. यह उसी सूरत में हो सकता है जब अमरीकी कर्ज़ को पाटने के लिए यू.एस. ट्रेज़री नए नोट छापे. चीन ने अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष से डॉलर की जगह नई मुद्रा बनाए जाने की मांग की है.

2016 की चौथी तिमाही में चीन की यूआन दुनिया की एक और बड़ी रिज़र्व मुद्रा बनी थी. 2017 की तीसरी तिमाही तक दुनिया के केंद्रीय बैंक में 108 अरब डॉलर थे. यह एक छोटी शुरुआत है, लेकिन भविष्य में इसका बढ़ना जारी रहेगा.

डॉलर क्या है (What is Doller in Hindi)

डॉलर एक विदेशी मुद्रा या Currency है क्या मैं विदेशी मुद्रा में पैसे कमा सकता हूं जो 20 से अधिक देशों में इस्तेमाल की जाती है. जिस प्रकार से भारत की मुद्रा रुपया है वैसे ही अमेरिका की मुद्रा का नाम डॉलर है. कुछ अन्य देशों की मुद्रा निम्न है जैसे कि –

  • अमेरिका की मुद्रा – अमेरिकी डॉलर (USD)
  • ऑस्ट्रेलिया की मुद्रा – ऑस्ट्रेलियन डॉलर (AUD)
  • सिंगापूर की मुद्रा – सिंगापूर डॉलर (SGD)
  • कनाडा की मुद्रा – कैनेडियन डॉलर (CAD)

इसी प्रकार से अमेरिका की मुद्रा का नाम डॉलर हैं. 1 डॉलर की कीमत लगभग 75 रूपये के आस – पास है. अभी तक आप समझ गए होंगे कि डॉलर क्या है अब जानते हैं कि आखिर हम किस प्रकार से घर में रहकर डॉलर क्या मैं विदेशी मुद्रा में पैसे कमा सकता हूं में पैसे कमा सकते हैं.

डॉलर में पैसे कैसे कमाए (How to Earn Money in Doller Hindi)

डॉलर में पैसे कमाने के लिए आप निम्न पांच तरीकों का इस्तेमाल कर सकते हैं. इन पाँचों तरीकों से पैसे कमाने के लिए आपको शुरूवात में मेहनत करनी होगी और फिर आप बाद में आप दिन-रात डॉलर में पैसे कमाते रहेंगे.

  • ब्लॉग या वेबसाइट बनाकर गूगल की मदद से डॉलर कमाए
  • YouTube चैनल बनाकर Adsense से डॉलर कमाए
  • Affiliate Marketing करके डॉलर Earn क्या मैं विदेशी मुद्रा में पैसे कमा सकता हूं करे
  • Freelancing करके डॉलर में पैसे कमाए
  • Quora के द्वारा कमा सकते हो डॉलर

डॉलर कमाने का तरीका (Dollar Kamane Ka Tarika)

अब इन सभी के बारे में एक – एक कर जानते हैं आखिर ये इनके माध्यम से डॉलर में पैसे कैसे कमाए जाते हैं.

1 – ब्लॉग या वेबसाइट बनाकर गूगल एडसेंस के द्वारा डॉलर में पैसे कमाए

डॉलर में पैसे कमाने का सबसे अच्छा तरीका है आप अपना खुद का एक ब्लॉग शुरू कर लें. जिन लोगों को ब्लॉग के बारे में ज्यादा पता नहीं है तो उनकी जानकारी के लिए बता दूँ ब्लॉग एक ऐसा जरिया है जिसके द्वारा आप अपने ज्ञान, अनुभव या राय को दुनिया तक इन्टरनेट के माध्यम से पहुंचा सकते हैं.

जैसे आप अभी यह लेख पढ़ रहे हैं तो यह भी एक ब्लॉग ही है. अगर आपको blogging के बारे में और अधिक जानना है तो हमने पहले से ही क्या मैं विदेशी मुद्रा में पैसे कमा सकता हूं अपने ब्लॉग में ढेरों सारे पोस्ट Blogging से Related लिखे हुए हैं जिन्हें पढ़कर आपको Blogging की सारी जानकारी मिल जायेगी.

Blog बनाने के कुछ दिन आपको आपको अपने Blog को Google AdSense Approval के लिए भेजना पड़ता है और फिर Google की टीम आपका Blog Check करके Approval दे देती है. और आप अपनी वेबसाइट पर AdSense के Ad लगाकर कमाई कर सकते हैं.

रेटिंग: 4.16
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 471
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *